Tagged: tragedy

0

कब हार मानी होगी गोरखपुर के अस्पताल में बैठे उस पिता ने …और किससे ?

बच्चा दिमाग़ कई विडंबनाओं को देखकर उलझ जाता है। ऐसे ही किसी एक याद ना आने वाली बारीक़ी को जब समझने में दिक्कत हो रही थी तो मुझसे ठीक बड़ी बहन ने मुझसे कहा...

%d bloggers like this: