googlee02265c5a6f1a7c2.html

Author: Kranti Sambhav

0

#musicoftheday : this harry has styles

Often we like something so much that we spend more time worrying about it than liking it…like this music ..music of Harry Styles. just loved it ..nut many are fikrmand if its one hit...

0

मासूमियत तो जवानी में होती है, बचपन में कहाँ ? मासूमियत का ही तो क़त्लेआम हो रहा है ।

जवान मासूम है। वो अधेड़ उमर के बहकावे में आ जाता है…जवानी का मन बिना झिझक गाय को माँ मान लेता है, उस माँ की रक्षा में भाई की जान भी ले लेता है..पर...

1

कैसे उम्र के साथ बदले इस ठुमरी के पांच रंग.. “याद पिया की आए”

ये ब्लॉग मेरे सफ़र के बारे में है, जो मैंने एक ठुमरी के साथ तय किया “याद पिया की आए”। कैसे अलग अलग मोड़ पर अलग तासीर के साथ ये मेरे सामने आया। वडाली...

0

क्या आप भी बॉलिवुडिया गानों से त्रस्त होकर बेफ़िक्री वाले गानें ढूँढते हैं ?

तो ये रिस्पॉन्स एक मित्र की व्यथा से उपजी संवेदना का उद्गार है। म्यूज़िक डाइरेक्टरों का कीबोर्ड एक असेंबली लाइन बन चुका है और ऐल्गॉरिदम के सहारे पता किया जा रहा है कि किस...

0

तो हो गई प्रदर्शित Maruti Suzuki Dzire !!

मई में लौंच होने वाली मारुति सुज़ुकी डिज़ायर को कंपनी ने दिल्ली में प्रदर्शित किया। कार को मैंने देखा। समझने की कोशिश की, कि कितनी नई है नई डिज़ायर। और पता चला कि बहुत...

1

अज़ान और भगवती जागरण वाली बहस के बीच लाउडस्पीकर की रणभूमि बना मेरा गाँव

अज़ान और भगवती जागरण वाली बहस के बीच लाउडस्पीकर की रणभूमि बना मेरा गाँव जो तस्वीर मैंने अभी सबसे पहले लगाई है, उसे देखकर कैसी छवि आपके दिमाग़ में आ रही है ? आम...

0

क्या आइडिया लगा, नई Maruti Suzuki Swift Dzire का स्केच देखकर ?

0

फ़ेसबुक की दुनिया में सड़कों पर दोस्त बनाता एक बाइकर

हाल फ़िलहाल में बहुत कम ऐसे लोग मिलते हैं जिन्हें देखते ही पहली नज़र में महसूस होता है कि वो इन्सपिरेशनल हैं, जिनकी कहानी प्रेरणा दे। ऐसा नहीं कह रहा कि ऐसे लोगों की...

0

कई साल बाद जब मैं गाँव गया …पार्ट -२

“बड़ों को संदेश देती मधुबनी की सातवीं क्लास की कवयित्री” कई बार कविता के बोल मज़बूत होते हैं और कविता पढ़ने का तरीक़ा भी। पर कई बार बोल दृढ़ होते हैं पर पढ़ने का...

0

कई साल बाद जब मैं अपने गाँव गया …

पार्ट-1 :“स्टॉपओवर पटना- अपने गृहनगर में टूरिस्ट” मेरा गाँव पटना के पास नहीं। पटना से दूर है। लगभग एक सौ सत्तर-अस्सी किलोमीटर दूर, मधुबनी से एक-डेढ़ कोस दूर। तो कई साल के बाद वहाँ...

googlee02265c5a6f1a7c2.html
%d bloggers like this: