googlee02265c5a6f1a7c2.html

Monthly Archive: July 2016

0

लेह जा रहे हैं क्या ? मैं भी गया था..

पहले की तस्वीरें युग-युगांतर की मानी जाती थीं, या कमसेकम दिखती थीं, मोटे मोटे बख़्तरबंद एलबम में। आजकल होता ये है कि एक तस्वीर की उम्र दो से ढाई घंटे रह जाती है, मतलब...

googlee02265c5a6f1a7c2.html
%d bloggers like this: